स्त्रियों को टोने टोटकों से कैसे बचाएं

नजर लगना और किसी भूत-प्रेत का पीछे पड़ने जैसी घटनाओं का सामना अधिकतर महिलाओं के साथ होता है। पुरूषों के बारे में ऎसी चीजें कम सुनी जाती हैं। अगर आप इन बातों पर विश्वास करते हैं, तो ये उपाय अपनाएं और हो जाएं निश्चिंत-

मान्यता है कि महिलाओं को अपने वस्त्र, बाल, नाखून और सजने-संवरने की सामग्री को विशेष ध्यान से संभालना चाहिए। अगर इसमें कोई चूक हो, तो नजर लगना और प्रेत आत्माओं का हमला होने का डर रहता है।

महिलाओं को नाखून काटते समय भी ध्यान रखना चाहिए कि उनके कटे हुए नाखून यहां-वहां नहीं गिरें।

महिलाओं को बाल बनाते समय भी विशेष ध्यान रखना चाहिए कि उनके कंघे में टूटकर आए हुए बाल कहीं भी ना गिर जाएं। माना जाता है कि लम्बे, घने और काले बालों वाली महिलाओं का जल्दी नजर लगती है। टोने-टोटके के लिए भी ये बाल सबसे ज्यादा टारगेट किए जाते हैं।

उत्सव, विवाह जैसे मंगल अवसरों पर महिलाओं को सफेद वस्त्र नहीं पहनने चाहिए। अक्सर ऎसे अवसरों की तलाश शैतानी हरकतें करने वाले तांत्रिकों और आत्माओं को रहती है।

अमावस्या और शनिवार को विषम वार माना जाता है। खासकर महिलाओं को इन दोनों दिनों बालों को खुला नहीं रखना चाहिए। खुले बाल और ये दोनों दिन बुरी आत्माओं के लिए खुला निमंत्रण होते हैं।

त्योंहार और विशेष धार्मिक अवसरों पर पति-पत्नी को संभोग नहीं करना चाहिए। ऎसे अवसरों पर भी बुरी प्रेत आत्माओं का प्रकोप रहता है।

महिलाओं को मेंहदी लगाने का भी विशेष चाव रहता है। ध्यान रहे कि मेंहदी लगाकर और बाल खुले रखकर रहना भी घातक सिद्ध हो सकता है। मेंहदी लगे हाथ और खुले बाल बुरी शक्तियों को न्यौता देने जैसे हैं।

महिलाओं के सजने संवरने की चीजों में इत्र या सेंट का भी बड़ा स्थान है। इत्र लगाकर दिन ओर रात के विषम प्रहरों में भी महिलाओं को सुनसान स्थान या फिर चौराहों से नहीं गुजरना चाहिए।

महिलाओं पर बुरी नजर अनेक कारणों से पड़ती है। बहुत कम लोगों को पता है कि महिलाओं की बड़ी और काली भौंहों से भी नजर लगती है। इस राज को जानने वाली महिलाएं अपनी भौंहों को हल्का सा काट लेती हैं। इससे नजर लगने की संभावना बेहद कम हो जाती है।

महिलाओं को प्रेमपूर्वक और सम्मान देने के लिए फूल भेंट करने का चलन है। अगर किसी महिला को फूल प्राकृतिक रूप लिए ना दिखे या फिर फूल के साथ किसी अन्य चीज के अंश दिखाई दें, तो ऎसे फूलों को स्वीकार ना करें। बताया जाता है कि कुछ लोग अपने फायदे या महिला के नुकसान के लिए तंत्र-मंत्र किए हुए फूल भेंट करते हैं।