तकादे से परेशान नन बैंकिंग कंपनी के एजेंट ने की खुदकुशी

858553815_648X8X100008279
कंपनी के भाग जाने पर लोग जमा कराये रुपये वापस दिलाने के लिए दे रहे थे दबाव
कटिहार : नगर थाना क्षेत्र के बैगना निवासी व नन बैंकिंग कंपनी के एजेंट ने लोगों के तकादे से परेशान होकर गुुरुवार को पेड़ पर चढ़ फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. इस मामले में पुलिस ने यूडी केस दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. उदय चंद सिंह पिता स्व रामअवतार यादव विश्वामित्र व प्रयाग नन बैकिंग कंपनी में एजेंट के तौर पर काम करते थे. पश्चिम बंगाल की इस चिटफंड कंपनी ने कटिहार में भी एक शाखा खोल रखी थी. इसमें सरकारी अधिकृत बैंकों की तुलना में अधिक ब्याज दिलाने की बात कह कर सैकड़ों लोगों को इस बैंक से जोड़ा गया था.
35 लाख जमा कराये थे : उदयचंद पेशे से झोलाछाप डॉक्टर थे. साथ ही इस नन बैंकिंग से जुड़े थे. उदयचंद की पहचान काफी लोगों से थी, तो उनसे मिलने जो भी आता, उसे वह इस बैंक से जुड़ने को कहते. उन्होंने इस बैंक में सैकड़ों लोगों
तकादे से परेशान…
का खाता खुलवाया था और फिक्स डिपोजिट भी कराया था. उदयचंद ने तकरीबन 35 लाख रुपये उक्त बैंक में लोगों का जमा कराया. इधर शारदा ग्रुप द्वारा करोड़ों की चपत लगाने पर राज्य सरकार ने सभी नन बैकिंग कंपनियों पर शिंकजा कसना शुरू कर दिया था. इस क्रम में प्रयाग, एक्टिव ग्रुप, एंविशन एग्रो, सनप्लांट सहित दर्जनों ननबैंकिग कंपनियां अपना कार्यालय बंद कर लोगों की राशि हजम कर गयीं. इसमें विश्वामित्र नन बैकिंग कंपनी भी शामिल है.
लोग जमा की गयी रकम वापस करने की मांग करते थे
विश्वामित्र व प्रयाग के पलायन किये जाने से एजेंट उदयचंद को बड़ा झटका लगा. वह तनाव में रहने लगे. उदयचंद ने विश्वामित्र व प्रयाग नन बैंकिग में अपनी जिम्मेवारी पर सैकड़ों लोगों को उक्त बैंक से जोड़ा था, इसलिए उनके घर पर लोग तकादा करने पहुंचने लगे. प्रतिदिन दर्जनों लोग उनके घर पहुंचते  व उन्हें उल्टी-सीधी बात सुनाते हुए जमा करायी गयी
रकम वापस दिलाने का दबाव डालते. इस कारण वह तनाव ग्रस्त रहने लगे और गुरुवार की सुबह तकरीबन नौ बजे मुफस्सिल थाना क्षेत्र के अवधेश सिंह के कामत पर जाकर उन्होंने पेड़ पर चढ़ फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. घटना की जानकारी मिलते ही नगर व मुफस्सिल पुलिस मौके पर पहुंची व शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. मृत उदयचंद के पुत्र कुमार रमण के बयान पर यूडी केस दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है.858553815_648X8X100008279